Pradhan Mantri Awas Yojna(PMAY) प्रधानमंत्री आवास योजना

Table of Contents

 Pradhan Mantri Awas Yojna, PMAY पात्रता, PMAY Eligibility Criteria, पैरामीटर, PMAY के लिए ऑनलाइन/ऑफलाइन आवेदन कैसे करें, प्रधानमंत्री आवास योजना ( प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण एवं प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी ) से जुडी सुंपूर्ण जानकारी हम आपको यहां बता रहे हैं। प्रधान मंत्री आवास योजना PMAY भारत सरकार की एक महत्त्वपूर्ण योजना है। प्रधान मंत्री आवास योजना के अनुसार भारत सरकार ग्रामीण क्षेत्र के आर्थिक रूप से कमजोर श्रेणी के लोग, जिनका खुद का पक्का घर नहीं है, उन्हें घर बनाने हेतु या फिर कच्चे घर की मरम्मत के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करती है। जिससे हर गरीब को कम कीमत पर घर उपलब्ध कराया जा सके।  हाल ही में केंद्रीय ग्रामीण विकास मंत्रालय ने ‘प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण को पूरा करने में किसी भी देरी के लिये दंड का प्रावधान किया है।यदि आवास जारी होने की तिथि से एक माह से अधिक समय तक आवास की स्वीकृति में विलंब होता है तो राज्य सरकार पर विलंब के पहले माह के लिये 10 रुपए प्रति आवास तथा बाद के प्रत्येक माह के विलंब हेतु प्रति आवास 20 रुपए का जुर्माना लगाया जाएगा। इसी प्रकार यदि लाभार्थी को देय प्रथम किश्त स्वीकृति की तिथि से सात दिन से अधिक विलंबित होती है, तो राज्य सरकारों को प्रति आवास प्रति सप्ताह 10 रुपए अतिरिक्त भुगतान करना होगा। यदि राज्य के पास केंद्रीय निधि उपलब्ध नहीं है तो कोई जुर्माना नहीं लगाया जाएगा। कोविड-19 के कारण योजना के कार्यान्वयन में सुस्ती देखी गई थी, इसलिये केंद्र सरकार दंड लगाकर यह सुनिश्चित कर रही है कि राज्य कार्यक्रम पर अधिक ध्यान दें।

PMAY ने शहरी गरीबों के लिए घर खरीदने के खर्च को कम कर दिया है। यदि आप भी प्रधानमंत्री आवास योजना योजना के अंतर्गत अपना घर बनवाना चाह रहे हैं, तो आपको PMAY प्रधानमंत्री आवास योजना के बारे में अवश्य जानना चाहिए।

Pradhan mantri awas yojna: PM AWAS YOJNA प्रधानमंत्री आवास योजना क्या है?

प्रधानमंत्री आवास योजना PM Awas yojna योजना केंद्र सरकार की एक ऐसी योजना है जो भारत के ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्रों में निर्धन एवं जरुरतमंद लोगों की आवास की समस्याओं का समाधान प्रदान करने के लिए शुरू की गई है। भारतीय नागरिकों के हितों के लिए 25 जून 2015 को प्रधानमंत्री आवास योजना का शुभारंभ किया गया था जिसका लक्ष्य 31 मार्च 2022 तक किफायती कीमत पर लगभग 20 मिलियन घरों का निर्माण करना था। प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण (PMAY-G) को वर्ष 2024 तक बढ़ा दिया गया है। पक्के घरों का कुल लक्ष्य भी संशोधित कर 2.95 करोड़ घर कर दिया गया है। प्रधानमंत्री आवास योजना PM Awas yojna योजना का मुख्य उद्देश्य सभी पात्र परिवारों के लिए 2025 तक आवास मुहैया कराना है जिससे सभी के पास स्वयं का पक्का घर हो। जहाँ केंद्र सरकार योजना के अंतर्गत कमजोर वर्ग के लोगों को स्वयं का पक्का घर बनाने के लिए आर्थिक सहायता उपलब्ध करवा रही है। वहीं पुराने घर को पक्का करने में भी आर्थिक सहायता कर रही है। पूर्व में ये योजना गरीब वर्ग के लिए प्रारम्भ की गई थी परन्तु अब इस योजना में होम लोन की राशि बढ़ा दी गई है जिसमें शहरी इलाकों के मध्यम एवं गरीब वर्ग को भी योजना में शामिल किया गया है ।

Pradhan mantri awas yojna: PM AWAS YOJNA प्रधानमंत्री आवास योजना का उद्देश्य क्या हैं?

हमारे देश में आज भी ऐसे प्रधानमंत्री आवास योजना का मुख्य उद्देश्य है कि साल 2025 तक गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने वाले प्रत्येक परिवार के पास स्वयं का घर हो जिससे कि उनको किराये के मकान में न रहना पड़े। जो लोग झोंपड़ी, कच्चे मकान में रहते हैं उनको प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत पक्का घर बनाने का अवसर मिलेगा। इस योजना के तहत केंद्र सरकार द्वारा पात्र परिवारों को ढाई लाख रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है, जिससे कि वह अपने पक्के मकान का निर्माण करवा सके एवं देश का सामाजिक एवं आर्थिक विकास बढे। शहरी योजना में महिला के स्वमित्व को प्रार्थमिकता दी गयी है जिससे महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा मिले।प्रधान मंत्री आवास योजना शहरी एवं ग्रामीण दोनों क्षेत्रों में शुरू की गई है-

प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण PMAY-G

यह योजना ग्रामीण क्षेत्रों में आवास की समस्याओं का समाधान करने के लिए शुरू की गई है। इसे ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा वर्ष 2022 तक ‘सभी के लिये आवास’ के उद्देश्य को प्राप्त करने हेतु शुरू किया गया था जिसे वर्ष 2024 तक बढ़ा दिया गया है। पूर्व ‘इंदिरा आवास योजना’ (IAY) को 01 अप्रैल, 2016 को ‘प्रधानमंत्री आवास योजना- ग्रामीण’ के रूप में पुनर्गठित किया गया था। गरीबी रेखा से नीचे (BPL) जीवन व्यतीत कर रहे ग्रामीण परिवारों को आवासीय इकाइयों के निर्माण और मौजूदा अनुपयोगी कच्चे मकानों के उन्नयन हेतु पूर्ण अनुदान सरकार द्वारा दिया जा रहा है।

प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी PMAY-U

इसके तहत शहरी क्षेत्रों में आवासीय सुविधाओं की विकास की जाती है और सस्ते आवास की व्यवस्था की जाती है। 25 जून, 2015 को प्रधानमंत्री आवास योजना शहरी (PMAY-U) का शुभारंभ किया गया जिसका उद्देश्य शहरी क्षेत्रों के लोगों को आवास उपलब्ध कराना है। इसका कार्यान्वयन आवास और शहरी मामलों का मंत्रालय करता है।  यह शहरी गरीबों (झुग्गीवासी सहित) के बीच शहरी निवास की कमी को देखते हुए पात्र शहरी गरीबों के लिये पक्के घर सुनिश्चित करता है। PMAY(U) के अंतर्गत सभी घरों में शौचालय, पानी, बिजली एवं रसोईघर जैसी बुनियादी सुविधाएँ प्रदान की जाती हैं। इस योजना में घर का स्वामित्व महिला के नाम पर किये जाने से महिला सशक्तिकरण को बढ़ावा मिल रहा है। विकलांग व्यक्तियों, वरिष्ठ नागरिकों, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग, अल्पसंख्यक, एकल महिलाओं, ट्रांसजेंडर और समाज के कमज़ोर वर्गों को इसमें प्राथमिकता दी गई है। 

प्रधानमंत्री आवास योजना (PM Awas Yojana: PMAY) के लाभ

मध्यम आय वर्ग के ऐसे लोगों को जिनकी सालाना आय 6 लाख से 12 लाख रुपए के बीच है, उन्हें 9 लाख रुपये के 20 साल अवधि वाले होम लोन पर 4 फीसदी की ब्याज सब्सिडी मिलेगी। यदि होम लोन पर ब्याज की दर 9 फीसदी है तो आपको पीएमएवाई के तहत यह 5 फीसदी ही चुकानी होगी. 12 लाख से 18 लाख रुपये की सालाना आय वाले लोगों को 4 फीसदी की ब्याज सब्सिडी मिलेगी। सब्सिडी बाथरूम, रसोई आदि सहित अतिरिक्त कमरों के स्वामित्व, नवीनीकरण और यहां तक कि निर्माण हेतु भी उपलब्ध है।

प्रधानमंत्री आवास योजना (PM Awas Yojana: PMAY) के लिए पात्रता

प्रधानमंत्री आवास योजना की सख्त पात्रता भारत के गरीब नागरिकों के अधिकारों की रक्षा करने में मदद करती है, जिन्हें किफायती घरों की वास्तविक आवश्यकता है।अपना खुद का घर खरीदना काफी महंगा हो सकता है, खासकर भारत में। लेकिन प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत ईडब्ल्यूएस व एलआईजी श्रेणियां अब खरीद सकते हैं। इस योजना के लिए EWS- आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग, LIG- निम्न आय वर्ग, MIG-I- मध्यम आय समूह, MIG-II- मध्यम आय समूह II, अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति से संबंधित लोग, मुक्त बंधुआ मज़दूर और गैर-एससी/एसटी वर्ग, विधवा महिलाएँ, रक्षाकर्मियों के परिजन, पूर्व सैनिक तथा अर्द्धसैनिक बलों के सेवानिवृत्त सदस्य, विकलांग व्यक्ति एवं अल्पसंख्यक इत्यादि वर्ग के लाभार्थी पात्रता रखते हैं। पात्र आवेदक को केंद्र या राज्य सरकार से किसी भी आवास योजना के अंतर्गत वित्तीय सहायता का लाभ नहीं मिला होना चाहिए। योजना का लाभ लेने के लिए यह भी आवश्यक है कि संपत्ति का पूर्ण स्वामित्व अथवा सह-स्वामित्व परिवार की किसी महिला सदस्य के पास होना चाहिए एवं 2011 की जनगणना के अनुसार, संपत्ति का स्थान अनुमत कस्बों और उनके आस-पास के नियोजन क्षेत्रों के अंतर्गत आना चाहिए।

EWS और LIG के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना पात्रता मानदंड 2022

जिन लोगों की आमदनी तीन लाख रुपये सालाना से कम है वे ईडब्‍लूएस कैटेगरी में आते हैं. छह लाख रुपये सालाना तक कमाने वाले लोग एलआईजी में आते हैं. इन दोनों कैटेगरी में पीएमएवाई (PMAY) के तहत छह लाख रुपये तक के लोन पर 6.5 फीसदी तक ब्याज सब्सिडी का फायदा उठाया जा सकता है। EWS और LIG के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना पात्रता की निम्न शर्तें हैं-

  • आवेदक की वार्षिक आय 3 लाख रु. (ईडब्ल्यूएस) और रु. 6 लाख (एलआईजी) तक होनी चाहिए। 
  • आवेदक को 2.67 लाख रुपये तक की अधिकतम सब्सिडी प्राप्त हो सकती है।
  • ब्याज सब्सिडी 20 साल के कार्यकाल के लिए 6.5% की दर से प्रदान की जाती है
  • सब्सिडी केवल 6 लाख रुपये तक के ऋण के लिए लागू है, जिसके बाद गैर-सब्सिडी दरें लागू होंगी।

इनके अलावा लाभार्थी यदि निम्न में से किसी श्रेणी में आता है तो उसे प्रधान मंत्री आवास योजना के लाभ से वंचित कर दिया जायेगा-

  • यदि किसी परिवार के सदस्य के पास एक मोटर चालित दोपहिया, तिपहिया, चार पहिया, और कृषि उपकरण या मछली पकड़ने की नाव है, वे प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ नहीं उठा सकते।
  • जिनके पास किसान क्रेडिट कार्ड (के.सी.सी.) है, जिनकी सीमा 50,000 रुपये अधिक से अधिक या उसके बराबर है, उनको प्रधानमंत्री आवास योजना हेतु अपवाद की श्रेणी में रखा जाएगा।
  • अगर किसी परिवार का कोई सदस्य सरकारी कर्मचारी है और उसकी सैलरी 10 हजार रुपये से अधिक है, उनको इस योजना का लाभ प्राप्त नहीं होगा।
  • अगर कोई भी व्यक्ति जो आयकर का भुगतान करता है या एक रेफ्रिजरेटर या लैंडलाइन फोन कनेक्शन का मालिक है, वे प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ नहीं उठा सकता।

प्रधानमंत्री आवास योजना (PM Awas Yojana: PMAY) आवेदन के लिए दस्तावेज

प्रधानमंत्री आवास योजना आवेदन के लिए दस्तावेज निम्नलिखित हैं-

  • आधार कार्ड (आधार कार्ड बैंक से लिंक होना चाहिए)
  • बैंक खता पासबुक
  • पासपोर्ट साइज़ फोटो
  • राशनकार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • जाति प्रमाण पत्र
  • मोबाईल नंबर, इत्यादि।

प्रधानमंत्री आवास योजना लिस्ट में अपना नाम कैसे देखें ? Pradhan Mantri Gramin Awas Yojana List 2023

प्रधानमंत्री आवास योजना की सूची एक ऐसी सूची है जिसमें प्रधानमंत्री आवास योजना में चयनित सभी लोगों का नाम शामिल होता है। यह सूची नियमित रूप से अपडेट की जाती है और नियमित रूप से नए लोगों के नाम जोड़े जाते हैं। प्रधानमंत्री आवास योजना की सूची दो प्रकार की होती है – पहली होती है ग्रामीण और दूसरी होती है शहरी। इस सूची में अपना नाम देखने के लिए की जाने वाली प्रक्रिया नीचे दी जा रही है –

प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत ऑनलाइन आवेदन करने वाले व्यक्ति लिस्ट में अपना नाम देखने के लिए, सर्वप्रथम पीएम आवास योजना की आधिकारिक वेबसाइट https://pmaymis.gov.in पर जाएँ।

अब होम पेज पर आपको पहला विकल्प “Search Beneficiary” के नाम से दिखाई देगा।

इस ऑप्शन पर क्लिक करें तथा एक New Tab Open करें।

यहाँ आपको अपने 12 अंको का आधार कार्ड नंबर अंकित करना होगा तथा इसके पश्चात Search Button पर क्लिक करना होगा।

यदि आपके द्वारा Aadhar Card Number सही भरा गया है तथा आपको केंद्र सरकार द्वारा एक लाभार्थी के रूप में स्वीकृत किया गया है तो आपका नाम इस सूची में सम्मिलित किया गया होगा और यदि ऐसा ना हुआ हो तो आप इस सूची के अंदर अपना नाम नहीं पाएंगे।

अगर दी गई जानकारी अच्छी लगी है तो इस पोस्ट को अपने सभी दोस्तों के साथ जरुर शेयर करें। यदि आप प्रधानमंत्री आवास योजना 2023 से जुडी़ अन्य कोई जानकारी चाहते हैं तो नीचे कमेन्ट अवश्य करें |

Leave a Comment